श्री कृष्ण द्वारा बताये गए 7 संकेत

श्री कृष्ण द्वारा बताये गए 7 संकेत:

आइये जानते है, समय से जुड़े श्री कृष्ण द्वारा बताये गए 7 संकेत के बारे में। मित्रो ये कहावत तो आप सभी ने सुनी ही होगी कि कभी किसी को भाग्य से ज्यादा और समय से पहले कुछ नहीं मिलता। तब तो आप ये भी जानते ही होंगे कि समय बहुत ही बलवान होता है जिसकी मार से बचना किसी के लिए भी असम्भव है। वह समय ही है जो चाहे तो राजा को रंक बना सकता है या किसी को भी अर्श से फर्श पर लाकर पटक सकता है। अब आप ये सोच रहे होंगे कि मैं ऐसा क्यों कह रहा हूँ तो मित्रों आपने भी ये अनुभव किया होगा कि किसी का भी समय एक सा नहीं रहा है अगर आज किसी का अच्छा समय चल रहा है तो आगे चलकर उसका बुरा समय आना भी निश्चित है। और समय के बारे में भगवान कृष्ण ने भी भागवत गीता में कुछ ऐसे संकेतो के बारे में भी बताया है जिससे आप पता लगा सकते है कि आपका कैसा समय शुरू होने वाला है। तो आइये जानते है, श्री कृष्ण के द्वारा बताये गए समय से जुड़े संकेतो के बारे में।

देवताओं आदि के साथ श्री कृष्ण और अर्जुन का युद्ध: THE DIVINE TALES

भागवत गीता में श्री कृष्ण कहते हैं कि वह समय ही है जो मनुष्य के जीवन में आने वाले सुख- दुःख को बताती है। साथ ही श्री कृष्ण कहते हैं कि सुख आने वाला वाला हो या फिर दुःख इसका संकेत करता द्वारा किया जाने वाले कर्म या फिर पशु-पक्षी और  भक्तो के जरिये मिलने लगता है परन्तु अज्ञानतावश मनुष्य उसे जान नहीं पाता। भागवत गीता में वर्णित कथा के अनुसार एक बार नारद मुनि भगवान विष्णु से मिलने वैकुण्ड धाम गए और उनसे मनुष्य के जीवन में आने वाले सुख या दुःख से पहले मिलने वाले संकेतो के बारे में पूछने लगे तब भगवान् कृष्ण ने उन्हें बताया की जब किसी व्यक्ति की आँख ब्रह्म मुहर्त अथार्थ सुबह 3 से 5 बजे के बीच खुल जाती है या फिर इस अंतराल में उसके सपने में भगवान् का स्मरण हो जाय , और मनुष्यों को ऐसा लगे कि कोई उसको दिशा दिखा रहा है जो उसके जीवन को समृद्धि और प्रगति की ओर ले जायगी तो ऐसे में मनुष्यों को जान लेना चाहिए कि उसके जीवन में समृद्धि से जुडी नई राहें खुलने वाली हैं जिसे पूरा करने में भगवान् स्वयं उसकी मदद करैंगे।

श्री कृष्ण ने कैसे दूर किया बाणासुर का अहंकार

इसके अलावा जब कोई मनुष्य पूजा करता हैं और उसके सामने भगवान् को चढ़ाये हुए फूल गिर जाते हैं तो उसे भगवान् का आशीर्वाद माना जाता है और यह यह भी एक शुभ संकेत माना जाता है। यही नहीं और भी कुछ ऐसी ही घटनाएं हैं जिससे मनुष्य आने वाले समय के बारे में जान सकता है। जैसे जब कोई मनुष्य सुबह उठते ही शीशे में अपना चेहरा देखता हैं और उसको अपना चेहरा बहुत ही खिलखिलाता और चमकता हुआ लगता है, और ऐसा कुछ दिनों तक लगातार ऐसा ही होता है, तो ऐसे में मनुष्यों को जान लेना चाहिए कि उसका अच्छा वक़्त शुरू हो गया है। इसी से जुड़ा एक और संकेत ये भी है यदि आप अचानक से बहुत खुश रहने लगे है तो इसका मतलब है कि आपके मन में भगवान् का वास है और इस समय जो भी आप सोचते है या करना चाहते है वो पूरा हो जाता है।

ऐसा भी माना जाता है जब आपको सपने में भविष्य में होने वाले कोई घटना पहले ही दिख जाती है तो इसे भी भगवान् का संकेत मान सकते है कि आपके जीवन में अब कुछ अच्छा होने वाला है। ऐसी ही और भी कुछ संकेत है जो आपके जीवन में आने वाले दुःख के खत्म होने और अच्छे वक़्त की शरुआत को बताता है। ऐसा ही एक और संकेत की और बढ़ते हैं, जोकि आपके धन संबंधी समस्याओं को समाप्ति की और इशारा करता है,अगर सुबह- सुबह आपके घर में कोई भी रिश्तेदार या अन्य कोई पैसे दे कर जाता है तो ये आपके घर में लक्ष्मी के प्रवेश के बारे में बताता है और आप समझ लें कि आपके जीवन में धन संबंधी समस्याएं अब खत्म होने वाली है।

भगवान परशुराम ने क्यों किया इक्कीस बार क्षत्रियों का विनाश

आगे श्री कृष्ण धन संबंधी समस्याओं से जुड़े संकेत के बारे में कहते हैं कि यदि किसी मनुष्य के हाथों में पैसे नहीं रुकते और फिर अचानक से उसके हाथों में धन रुकने लगते हैं तो मनुष्यों को समझ जाना चाहिए कि उसकी खाली जेब के भरने के समय का संकेत है जो उसके जीवन में चल रहे कष्टों को खत्म कर देगा।कुछ ऐसे भी संकेत है जो पशु पक्षी द्वारा भी मनुष्यों को दिए जाते है, जैसे की यदि कोई बंदर आपके छत पर आम की गुठली फेक कर चला जाए, कोई बिल्ली आपके घर में बच्चो को जन्म दे या फिर कोई पक्षी आपकी छत पर कोई चाँदी की चीज़ छोड़ जाये तो ये भगवान् का एक संकेत है कि आपका अच्छे समय की शुरुआत होने वाली है।

इसके अलावा एक संकेत हिन्दू धर्म में पूजे जाने वाली गौ माता से भी जुड़ा हुआ है यदि आपके घर के दरवाजे पर अचानक से गौ माता आना शुरू कर देती है, और आपके घर से भोजन या पानी का सेवन करती है तो समझ जाये की आपके घर पर अब भगवान् की कृपा होने वाली है इसके अलावा आप जब आप सुबह के समय घर से बाहर निकलते है और आपके सामने से कोई पानी या दूध लेकर गुजरता है तो इसे सुख समृद्धि का संकेत माना जाता है और आपके जीवन में दुःख का समय अब खत्म होने वाला है। आप समृद्धि की ओर बढ़ने वाले हैं।

कैसी है यमराज की सभा जहाँ मृत आत्माओं को दी जाती है सजायें

बच्चो को भगवान् का दूसरा रूप भी माना जाता है इसलिए उनके आपके घर में आगमन को बहुत ही शुभ या भगवान् का सीधे- सीधे प्रवेश माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि यदि कोई बच्चा आपके घर रोज आ कर आपके आंगन में ख़ुशी से खेल रहा हो तो निश्चित रूप से आपके घर में खुशियां आने वाली है ऐसा भी माना जाता है जब आपके दाहिने भाग विशेषतः दांये गाल, बाजू और दाहिने हाथ का फड़कता है तो ये आपके जीवन में सुख समृद्धि का संकेत होता है। ऐसा भी कहा जाता है अगर आप कोई जरूरी काम करने जा रहें हो और आपके रास्ते में कोई बच्चा या कन्या आपको देख के मुस्कुराते है तो आपका वो काम जरूर बन जायेगा। इसे आप अपने काम के बनने का शुभ संकेत भी मान सकते हैं।

तो मित्रो उम्मीद करता हूँ कि आप भगवान श्री कृष्ण के द्वारा बताये गए इन संकेतों को आप भली भाँती समझ गए होंगे और अगर समझ गए हो तो दुःख की स्थिति में आप निराश ना हो बस अपना कर्म करते रहें क्यों कि गीता में भगवान कृष्ण ने ये भी कहा है कि कोई भी कर्म व्यर्थ नहीं जाता भले वह अच्छा हो या बुरा और हर मनुष्य को उसके द्वारा किये जाने वाले कर्म के हिसाब से ही उसे उसे फल मिलता है। इसलिए भगवान द्वारा दिए गए इन संकेतो को अगर आप जान ले। तो आपके जीवन में आने वाले सुख का आप पहले से पता लगा सकते हैं।